Today Shayari 14th dec.2019

संघर्ष में आदमी अकेला होता है,

सफलता में दुनिया उसके साथ होती है,

जिस-जिस पर ये जग हँसा है,

उसीने इतिहास रचा है…


चलता रहूँगा पथ पर,
चलने में माहिर बन जाऊंगा !!
या तो मंजिल मिल जाएगी,
या
अच्छा मुसाफ़िर बन जाऊंगा !!Today shayari

Advertising

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

Today  Shayari 14th dec.2019

 

लक्ष्य भी है, मंज़र भी है,
चुभता मुश्किलों का खंज़र भी है !!
प्यास भी है, आस भी है,
ख्वाबो का उलझा एहसास भी है !!

रहता भी है, सहता भी है,
बनकर दरिया सा बहता भी है!!
पाता भी है, खोता भी है,
लिपट लिपट कर रोता भी है !!

थकता भी है, चलता भी है,
कागज़ सा दुखो में गलत भी है !!
गिरता भी है, संभलता भी है,

सपने फिर नए बुनता भी है !!


पानी को बर्फ में,
बदलने में वक्त लगता है !!
ढले हुए सूरज को,
निकलने में वक्त लगता है !!

थोड़ा धीरज रख,
थोड़ा और जोर लगाता रह !!
किस्मत के जंग लगे दरवाजे को,
खुलने में वक्त लगता है !!

What is your comment about this post?